Select Page



हेल्थ डेस्क. करी, हरी और वरी हार्ट डिसीज का सबसे बड़ा कारण हैं। करी यानी तरी वाला भोजन, वरी यानी तनाव और हरी यानी गुस्सा तथा हड़बड़ी। विशेषज्ञों के मुताबिक ये धमनियों में ब्लॉकेज का खतरा बढ़ाते हैं। डायटीशियन डॉ. अलका मोहन और कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. लवनीत बत्रा से जानते हैं क्यों ऐसी चीजों से परहेज जरूरी है…

  1. ग्रेवी वाले फूड में क्रीम, घी, बटर और शुगर बहुत होता है। जैसे बटर चिकन में 450 कैलोरी तो छोले-भटूरे में 400 कैलोरी होती है। ज्यादा करी से शरीर में प्रोटीन, वसा और कार्बोहाइड्रेट की मात्रा असामान्य हो जाती है। ऐसे भोजन का असर हार्ट की धमनियों पर होता है।

    • रोज ये करें: हाई फाइबर युक्त भोजन सबसे अच्छा है। जैसे चोकर या सोयाबीन मिले आटे की रोटी, दलिया, छिलके वाली मूंग दाल, अंकुरित गेहूं। फल-सब्जियां छिलके सहित खाएं। लहसुन, अदरक कोलेस्ट्रॉल कम करते हैं, रक्त का थक्का बनने से रोकते हैं। 1 कप छाछ दोपहर भोजन के बाद पिएं।
  2. ज्यादा तनाव व चिंता से शरीर में एक किस्म का वसा बनाती है, जिसे बैड कोलेस्ट्रॉल कहते है। इससे नसों में संकुचन का खतरा बढ़ता है। हार्वर्ड मेडिकल स्कूल के अनुसार स्ट्रेस से व्हाइट ब्लड सेल्स ज्यादा बनने लगते हैं। आर्टरीज़ ब्लॉक होने लगती हैं। हार्ट डिसीज का खतरा बढ़ता है।

    • रोज ये करें : यूरोपियन सोसायटी ऑफ कार्डियोलॉजी कांग्रेस की स्टडी के अनुसार रात को छह घंटे से कम सोने वालों में स्ट्रोक का खतरा अधिक होता है। 6 से 8 घंटे नींद लेना जरूरी है। रोज 30 से 45 मिनट एक्सरसाइज से कोलेस्ट्रॉल, हाई ब्लड प्रेशर और वजन नियंत्रित रहता है।
  3. कुछ लोग हर काम में हड़बड़ी करते हैं। इसे हरी सिकनेस कहते हैं। ऐसे लोगों को हार्ट डिसीज़ और हाई ब्लड प्रेशर का खतरा अधिक होता है। काम जल्दी नहीं होने पर इन्हें गुस्सा आता है। इससे रक्त प्रवाह तेज हो जाता है। रक्त के दबाव से हार्ट की बारीक नसों के फटने का खतरा रहता है।

    • रोज ये करें: इस व्यवहार में बदलाव का सबसे अच्छा तरीका है सुबह जल्दी उठना। समय पर दिन की शुरुआत से दिनभर के लिए मूड सेट हो जाता है। योग भी व्यवहार बदलने का अच्छा तरीका है। योग से गुर्दे की क्षमता बढ़ती है। ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है। हार्ट रेट सुधरती है। हार्ट तंदुरुस्त बनता है।
    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      World Heart Day 2018 secret of healthy heart

Read Original Article / News

Latest Health News by Dainik Bhaskar

Visit our Hospitals Website

WhatsApp WhatsApp us