Select Page



डॉ.बिमल छाजेड़ (कार्डियोलॉजिस्ट)
हेल्थ डेस्क. सरकार की ताजा रिपोर्ट बताती है कि एक वर्ष में देश में 28 लाख हृदय रोगियों की मौत हो गई और करीब साढ़े पांच करोड़ नए हृदय रोगी सामने आ गए। इतनी बड़ी संख्या में हृदय रोगियों के बढ़ने और महंगे इलाज की बड़ी वजह भय का बाजार भी है। जानिए कैसे लोगों को डराकर स्टेंट का कारोबार कैसे दिन-प्रतिदिन बढ़ रहा है।

  • 95 फीसदी से ज्यादा हृदय रोगियों को बताया जाता है कि हार्ट की आर्टरीज में ब्लॉकेज हैं। स्टेंट हार्ट ब्लॉकेज का स्थायी समाधान नहीं है और न ही हर ब्लॉकेज में स्टेंट लगाना अच्छा विकल्प होता है। ब्लॉकेज का पता लगाने के लिए मरीज की एंजियोग्राफी कराई जाती है। उसके बाद बताया जाता है कि ब्लॉकेज 70, 80 या 90 फीसदी है। कभी भी ब्लॉकेज 51, 81 या 91 फीसदी नहीं बताया जाता। क्योंकि एंजियोग्राफी के बाद भी ब्लॉकेज का सिर्फ अंदाजा लगाया जाता है।
  • ईसीजी से ब्लॉकेज का पता तभी चलता है जब यह 90 फीसदी के करीब हो। यहीं से शुरू होता है भय का बाजार। असल में हार्ट की धमनियों में कोलेस्ट्रॉल (वसा) व ट्राइग्लिसराइड के जमने से ब्लॉकेज की शुरुआत होती है। जब ब्लॉकेज 70 से 80 फीसदी तक पहुंच जाता है तभी मरीज को पता भी चलता है। इस स्तर पर भी जान का खतरा नहीं होता। जिन्हें 80 % ब्लॉकेज है, उन्हें चलते समय परेशानी होगी। दौड़ते समय परेशानी यानी 70 फीसदी ब्लॉकेज है और बैठे रहने पर भी चेस्ट में दर्द, भारीपन यानी 90% ब्लॉकेज है।
  • ब्लॉकेज को रिवर्स भी किया जा सकता है। इसके लिए सबसे पहले शरीर में कोलेस्ट्रॉल व ट्राइग्लिसराइड की सप्लाई रोकनी होगी। इससे ब्लॉकेज बढ़ना बंद हो जाएगा। इसके लिए मीट और मलाईयुक्त दूध लेना बंद करना होगा। इससे शरीर में फैट जाता है। इसके अलावा ट्राइग्लिसराइड को बंद करने के लिए तेल, घी, मूंगफली और काजू को खाने में पूरी तरह से बंद करना होगा। ये रुकते ही ब्लॉकेज बढ़ना रुक जाएगा।
  • यह भी ध्यान रहे कि जितनी आपके शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा है, उसका 25 फीसदी शरीर में गुड काेलेस्ट्रॉल (एचडीएल) होना जरूरी है। गुड कोलेस्ट्रॉल शरीर खुद बनाता है इसके लिए हरी सब्जियां और फल के साथ व्यायाम जरूरी है। यदि इनका सख्ती से पालन किया जाए तो हर साल दो से पांच फीसदी की दर से ब्लॉकेज में कमी आना शुरू हो जाती है। हालांकि ब्लॉकेज घटने में अन्य कारक भी सहायक होते हैं।

(जैसा उन्होंने पवन कुमार को बताया)

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


World Heart Day stent and heart blockage

Read Original Article / News

Latest Health News by Dainik Bhaskar

Visit our Hospitals Website

WhatsApp WhatsApp us