Select Page



हेल्थ डेस्क.कपालया 'खोपड़ी' हडि्डयों (अस्थियों)से बनी एक ऐसी कठाेरसंरचनाहै, जो सिर औरचहरे को सुरक्षा वआकृति प्रदान करती हैं। यह गुंबज के समान उभरीहुईकुछ चपटी, गोल तथा अंडे के आकार का होतीहै।खोपड़ीकी सभी हडि्डयां आपस में पूरी तरह से जुड़ी रहती हैं। इसके सभी जोड़ अचल होते हैं। अस्थियों के टुकड़ों के किनारे आरे के दांतों की तरह होते हैं। एक हड्‌डीदूसरी अस्थिहड्‌डीके खांचे में पूरी तरह से से फिट होती है औरइनमें किसी प्रकार की गति नहीं होती।

खोपड़ी कशेरुका दण्ड (vertebral column) के ऊपर वाले सिरे पर टिकी रहती है। इसकी अस्थि रचना (bony structure) दो भागों में बंटी रहती है- कपाल (Cranium) और चेहरा (Face)। कपाल में 8 तथा चेहरे में 14 हड्डियां होती है। इस प्रकार कुल मिलाकर 22 हड्डियां होती है।

खोपड़ी का डिजाइन ऐसा बनाया गया है कि यह मस्तिष्क को हर तरह के खतरे और आघात से सुरक्षा प्रदान करता है।खोपड़ीमें कईगड्ढे तथा छिद्र होते हैं तथा उनमें संबंधित मांसपेशियाँ और स्नायु रहती है। नासिका गुहा में श्वास तथा गंध संबंधी संस्थान रहता है।मुखमें स्वाद तथा भोजन कीपाचन क्रियाआरंभ होती है। शंखास्थि में संतुलन तथा श्रवण संस्थान स्थित रहता है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


interesting facts and information about human skull

Read Original Article / News

Latest Health News by Dainik Bhaskar

Visit our Hospitals Website

WhatsApp WhatsApp us